Typing Practice Rules & Tips

Typing practice rules and tips in hindi
typing practices tips

Typing Practices Rules/Tips

टाइपिंग practices रूल्स/टिप्स

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿੱਚ ਪੜਣ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ

  1. Sitting Position: अच्छी तरह से टाइपिंग करने और सिखने का सबसे पहला रूल यह है कि आप कि chair पर sitting position एक दम सही हो। जैसा के नीचे दिए चित्र में है। अगर आप गलत position में टाइपिंग करते हैं तो आपकी टाइपिंग स्पीड उतनी अच्छी नहीं हो पाएगी, जितनी के आप कर सकते थे और साथ में ही आपको हेल्थ रिलेटेड problems भी हो सकती है।
  2. siting position while typing
  3. हाथों कि position: होम rows पर आपके fingers की अच्छी पकड़ होनी चाहिए और साथ ही आपको पता होना चाहिए कोन सी key किस फिंगर से press करनी है। नहीं तो आपके हाथों का कीबोर्ड के साथ अच्छा तालमेल नहीं बन पाएगा।
  4. hand position on keyboard
  5. टाइपिंग सीखते समय पहले अपने हाथों की speed बनाए, आपकी नेट speed 35+ WPM कम से कम हो। backspace का use कम से कम करें।
  6. टाइपिंग speed बन जाने पर, फिर पूरा ध्यान accuracy पर लगाए, ज्यादातर स्टूडेंट speed बनाने पर ही ध्यान देते हैं, लेकिन वो भूल जाते हैं कि speed के साथ-साथ accuracy होना भी बहुत जरुरी है, accuracy जितनी ज्यादा हो उतना ही अच्छा है, अगर आप ने टाइपिंग lessons अच्छे से किए होंगे तो आपकी accuracy अपने आप ही हाई होगी।
  7. speed को ज्यादा करने के लिए, आपका टाइपिंग पैराग्राफ का समय 15-20 मिनट का हो तो अच्छा है। इस से आपको फाइनल टाइपिंग टेस्ट में टाइपिंग करते हुए परेशानी नहीं होएगी।
  8. Accuracy को बनाने के लिए, आपको उन keys पर ज्यादा ध्यान देना है जिन keys में आपको सबसे ज्यादा mistakes होती है। आपको इन keys की practices अलग से करनी होगी, आप unicodepoint के manual टाइपिंग में भी इन keys का एक छोटा सा पैराग्राफ बना कर practices कर सकते हैं नहीं तो offline आप ms word में भी कर सकते हैं।
  9. टाइपिंग को regular करते रहें, और टाइपिंग करते समय किसी से भी बीच में कोई बात न करें न ही कोई और काम करें जैसे के mobile आदि का use. टाइपिंग में अच्छी skill बनाने के लिए पूरा ध्यान आपके 10 fingers पर ही हो तो बहुत अच्छा है।
  10. टाइपिंग की practice एक ही keyboard पर न करें, keyboard बदल बदल कर टाइपिंग करे। हो सके तो हफ्ते में एक दिन किसी कंप्यूटर center पर जा कर करें, इस से आपको आस पास की crowd में टाइपिंग करने का experience होगा, जिस से फाइनल टाइपिंग टेस्ट देते समय आपको nervousness नहीं होगी।
  11. हर बार नया पैराग्राफ न करें, पीछे किए हुए पैराग्राफ को भी repeat करते रहे। आप ऐसे भी कर सकते हैं कि आप 5 नए पैराग्राफ टाइप करें, फिर इन को ही randomly repeat करें। ऐसा करने पर आपके दिमाग को टाइपिंग में ध्यान लगाने में परेशानी नहीं होगी, मतलब आप को टाइपिंग करने में थोड़ा सा अच्छा लगेगा।
  12. हर रोज, जब भी आप टाइपिंग टेस्ट करें तो उसकी टाइपिंग रिपोर्ट को एक notebook पर नोट करते जाएँ औत अपनी रोजाना के टाइपिंग स्टेटस को track करते रहे। इस से आपको अपनी प्रोग्रेस का पता चलता रहेगा।
  13. सबसे main बात कभी भी किसी से, या फिर अपने आप से, यह न कहें के आपकी टाइपिंग speed 25-26 WPM हैं और इस से improve नहीं हो रही। इसे आपको negative energy ही मिलेगे गयी जो आपके होंसले को कम करेगी।आप ऐसा कह सकते हैं के मेरी टाइपिंग speed 25 WPM है और अगले दो दिन में 26 से ज्यादा की हो जाएगी। मतलब BE POSITIVE.
  14. Finally टाइपिंग कोई science का फार्मूला नहीं है जिस को super intelligent स्टूडेंट ही समझ और कर पाएंगे, टाइपिंग एक skill है जैसे हम cycle, bike, car की driving सीखते हैं और आपको सिर्फ करनी practice, practice और smart practice.
Share on Google Plus

About Lakhvir Singh

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment