Windows Operating Sysem in hindi | Window version


Windows Operating System: यह operating सिस्टम कंप्यूटर पर चलने वाला सबसे famous ऑपरेटिंग सिस्टम है। Windows OS को Microsoft Corp. ने develop किया है। Windowsज का पहला GUI Based Operating सिस्टम 1985 में आया था। इससे पहले कंप्यूटर में Apple का develop किया हुआ Operating System Mac कंप्यूटर पर चलता था, जो बहुत famous था लेकिन windows के आने के बाद वह के वह Windows से पीछे रह गया।

हमारे घर, Office, School, college में mostly जो कंप्यूटर है, वह Windows ऑपरेटिंग सिस्टम पर ही काम करते हैं। जब हम अपने कंप्यूटर को start करते हैं, तब सबसे पहले कंप्यूटर की screen पर अगर Starting Windows” और Windows आ हो, तो इसका मतलब यह है कि हमारे कंप्यूटर पर Windows का कोई एक Version ही चल रहा है।
 हम में से mostly लोगों ने windows के यह version को कंप्यूटर में देखा होगा वो है windows xp एंड windows 7, Windows के बाकी version outdated, flop और new होने के कारण वह ज्यादा कंप्यूटर में नहीं हैं।

Is windows OS free or paid?

 Windows एक paid ऑपरेटिंग सिस्टम है यह free नहीं है, Windows की कीमत ₹4000 से लेकर ₹20000 तक, या उससे ज्यादा की हो सकती है। यह depand करता है windows के version और editions पर।
 Windows user friendly ऑपरेटिंग सिस्टम होने के साथ-साथ यह बहुत easy भी है। इसे पर काम करने के लिए ज्यादा कंप्यूटर की knowledge की जरूरत नहीं होती। जैसा के Linux के case में होता है। Linux को use करने के लिए थोड़ा सा advanced user चाहिए। एक और बात यह है कि हम school, college, center जहां पर हमने कंप्यूटर को चलाना सीखा है। वहां पर mostly Windows ऑपरेटिंग सिस्टम को ही सिखाते हैं, और हम Windows ऑपरेटिंग सिस्टम पर कंप्यूटर को  चलाना सीखते हैं और Linux हमें चलाने में new लगता है। Windows के Software हमें इंटरनेट पर बहुत ज्यादा मिलते हैं।

Windows के Editions, Windows Editions क्यों?

 मैंने पहले ही बता दिया है कि Windows एक paid ऑपरेटिंग सिस्टम है। इस को use करने के लिए, इसे खरीदना पड़ता है। कंपनी ने windows के every version पर अलग-अलग editions कर इन्हें सेल करती है। जैसे घर के किसी के PC लिए ज्यादा features वाली windows की जरूरत नहीं होती, तो कंपनी ने less features और low cost के साथ होम user के लिए एक editions तैयार किया, जिससे कम पैसे लगाकर हम अपने PC पर एक Windows install कर सकते हैं। ऐसे ही कंपनी ने business के लिए और companies के computer लिए एक editions तैयार किया, जिस में बहुत से features और tools होते हैं, और इसकी कीमत भी बहुत होती है। इस तरह कंपनी windows के तैयार करती है user को Categories में बाँट कर।
 Windows Starter, Windows Home, Windows Basic, Windows Home Premium यह windows के editions हैं जो home कंप्यूटर के लिए हैं।
Windows Business, Windows Pro, Windows Professional, Windows Premium यह editions companies’ में काम करने वाले कंप्यूटर और business कंप्यूटर के लिए हैं।
Windows Ultimate यह Professional user के लिए है।
Windows के बहुत सारे versions आए हैं जो windows xp से पहले आए हैं वो हैं Windows 1.x, Windows 2.x, Windows 3.x, Windows NT, Windows 95, Windows 4.0, Windows 98, Windows 2000, Windows ME हैं तो चलिए जानते हैं windows के इन version के बारे में।

Windows XP: यह Windows अक्टूबर-2001 में आई थी। इस windows में उस समय के according बहुत अच्छे features थे। इसका GUI भी बहुत अच्छा था। उस टाइम के कंप्यूटर में यह Windows बहुत अच्छे से काम करती थी। यही कारण से यह windows बहुत famous हो गई थी।
Windows XP अब तक की सबसे ज्यादा time तक चलने वाली windows है, इसके update कंपनी ने अप्रैल-2014 में देने बंद कर दिए थे। अब भी पुराने computers पर windows XP का है राज है। Windows XP को चलाने के लिए 128MB Ram की जरूरत होती थी और 1.5 GB Free Hard disk space की जरूरत होती थी। इसके setup package में हार्डवेयर drivers नहीं आते थे, इसका मतलब यह है के इस windows को install करने के बाद अलग से hardware की Disk से हार्डवेयर driver अपडेट करने पड़ते थे, जिसके बाद ही कंप्यूटर Proper काम करता था। यह हार्डवेयर disk कंप्यूटर के motherboard के साथ box में आती है। आगे है WindowsXP के Editions.
Editions of Xp:
·       Windows XP Starter
·       Windows XP Home
·       Windows XP Professional
·       Windows XP 64-bit Edition

Window Vista: यह windows XP के बाद जनवरी-2007 में आ गई थी। इस Windows का GUI Windows XP से काफी अलग और new था। जो के देखने में windows xp से काफी अच्छा दिखता था, लेकिन काम करने के लिए अच्छा नहीं था, क्योंकि उस टाइम के कंप्यूटर outdated hardware के थे। जिन पर windows xp अच्छे तरीके से काम करती थी, लेकिन windows vista उन computers को slow कर देती थी यही कारण है कि Windows Vista Flop हो गई और भी काफी technical reasons है जिनसे Win Vista Flop हो गई। Windows Vista पहली बार में पहली बार hardware drivers इसके setup में आया। Windows Vista के लिए 512MB Ram और 15GB Free Hard Disk Space की जरूरत होती है।
Editions of Vista:
·       Windows Vista Starter
·       Windows Vista Home Basic
·       Windows Vista Home Premium
·       Windows Vista Business
·       Windows Vista Enterprise
·       Windows Vista Ultimate

Windows 7: यह Windows Vista के बाद जुलाई-2009 में आई थी Windows7 के GUI देखने में तो windows के जैसे ही मिलते जुलते थे। लेकिन इनकी quality high थी। Windows 7 में vista की कमियों को दूर किया गया था। यह Windows हिट रही। Windows XP के बाद यह 2nd windows है जो user की choice बनी अब भी(2018) बहुत से user windows के latest version को छोड़ कर Windows 7 को ही user करना पसंद करते हैं। इसके लिए 1GB Ram और 16GB Free Hard Disk Space की जरूरत होती है। जब यह windows आई थी तब तक mostly कंप्यूटर updated हार्डवेयर वाले हो चुके थे। जिस वजह से windows xp के user windows 7 पर upgrade हो गए।
Editions of 7:
·       Windows 7 Starter
·       Windows 7 Home Basic
·       Windows 7 Home Premium
·       Windows 7 Professional
·       Windows 7 Enterprise Business Edition
·       Windows 7 Ultimate

Windows 8: यह Windows 7 के बाद अक्टूबर-2012 में आई थी। यह Windows भी Windows Vista की तरह चल नहीं पाई क्योंकि इस Windows में start button और start menu को कंपनी ने remove कर दिया था और इसके GUI को बदलकर Windows phone के GUI जैसा बना दिया था। इस वजह से इस Windows पर काम करना user को मुश्किल लगने लगा। हालांकि look wise इसके visual effect काफी अच्छे थे। इस Windows के icon भी flat थे। जैसे previous Windows में crystal बटन और icons थे। इस Windows में पहली बार Windows phone की Apps हम अपने desktop कंप्यूटर पर चला सकते थे। लेकिन हम सभी apps run नहीं कर सकते थे। और इनमें bugs थे। इस Windows के लिए 1GB Ram और 16GB Hard Disk की free space चाहिए होती है।
Edition of Win 8:
·       Windows 8
·       Windows 8 Pro
·       Windows 8 Enterprise
·       Windows 8 OEM

windows8.1: यह Windows Windows 8 के बाद अक्टूबर-2013 में आई थी। इस Windows में कंपनी ने Windows 8 में की गई GUI की गलतियां और Technical bugs को सुधारने की कोशिश की लेकिन पूरी तरह से नहीं। इस Windows में start बटन तो था है, लेकिन starts menu अभी भी नहीं है। इस Windows में Windows 8 से ज्यादा कुछ special नहीं है। यह भी Windows 8 की तरह flop ही रही, लेकिन धीरे-धीरे users इसके GUI like करने लगे, लेकिन Windows 7 वाली बात ना बनी। इस को install करने के लिए 1GB Ram और 16GB Free Hard Disk Space की जरूरत होती है।
Edition of Win 8.1:
·       Windows 8.1
·       Windows 8.1 Pro
·       Windows 8.1 Enterprise
·       Windows 8.1 OEM
·       Windows 8.1 with Bing

Windows 10: यह Windows 8 के बाद जुलाई-2015 में आई थी। यह Windows अब तक की सबसे latest Windows है। इस Windows में Windows 7 और Windows 8 का mixture है। इस Windows की तरफ कंपनी ने Windows 7 और Windows 8 दोनों के users की attention लेने की कोशिश की, इसलिए कंपनी ने Windows 10 का update Windows7 & Windows8 दोनों के लिए free में online upgrade करने के लिए दिया।
Windows 10 में start बटन और start menu दोनों हैं और इसका GUI Windows 8 से मिलता है और इस Windows के Icons Windows 8 की तरह flat हैं। Windows 10 में Windows 8 की तरह Windows phone की apps run कर सकते हैं। इस तरह Windows 10, Windows 7 और Windows 8 के user को पसंद आई और hit रही है। इस Windows को install करने के लिए 1GB Ram और 16GB Free Hard Disk Space की जरूरत है। Windows 10 में बहुत सारे ऐसे features आए जो के Windows 7 और Windows 8 में भी नहीं थे।
Edition of Win 10:
·       Windows 10 Home
·       Windows 10 Pro
·       Windows 10 Pro for Workstations
·       Windows 10 Pro Education
·       Windows 10 Enterprise
·       Windows 10 Enterprise LTSB
·       Windows 10 Education


यह था Windows Operating System के बारे में उम्मीद है आपको समझ आया होगा और अगर आपके पास कोई सवाल है तो आप comment box में type करें अगर आप को Windows के बारे में main point चाहिए तो आप हमारी YouTube channel पर जाए।


Share on Google Plus

About Lakhvir Singh

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment