what is software in hindi?



Software: Computer system के components 2 types में divided होते हैं, एक हैं Physical component जिस को हम hardware कहते हैं और दूसरे हैं logical component जिस को हम software कहते हैं, अगर आपको hardware के बारे में जानना है तो इस link पर click करें और अब जानते हैं software के बारे में

What is software?

कंप्यूटर instructions के group से बनता है एक कंप्यूटर program और इन्हीं कंप्यूटर programs के groups से बनता है एक software programs को हम mini सॉफ्टवेयर बोल सकते हैं

Different between software and hardware?

Software को हम hardware की तरह touch नहीं कर सकते software को हम कंप्यूटर की screen पर ही काम करता हुआ देख सकते हैं software कंप्यूटर के life होते हैं software के बिना कंप्यूटर हार्डवेयर dead होता है और किसी काम का नहीं रहता computer सिस्टम में हम कंप्यूटर hardware और software को ऐसे समझ सकते हैं, मान लो कंप्यूटर system, हमारी body हो और कंप्यूटर hardware हमारे body parts(head, arms, legs, hands आदि) हैं और हमारी आत्मा, software है जैसे हम अपनी आत्मा को touch नहीं कर पाते ऐसे ही हम software को भी touch नहीं कर सकते हम आत्मा को अपने अंदर ही feel कर सकते हैं, वैसे ही software को भी हम कंप्यूटर system में ही feel कर सकते हैं

Where is software inside computer system?

कंप्यूटर सिस्टम में software memory devices  मैं store होता है जैसे के hard disk drive में software को हम pen drive, memory card, CD, DVD में भी load कर सकते हैं

Why software is needed?
सॉफ्टवेयर की जरूरत क्यों है?

Software से ही कंप्यूटर आपने सभी काम करता है, software ना हो तो कंप्यूटर start भी नहीं हो सकता software से ही कंप्यूटर में समझने की और काम करने की power आती है hardware की तरह software भी कंप्यूटर के लिए उतना ही जरूरी part है

Types of software:

 सॉफ्टवेयर basically दो तरह के होते हैं system software और application software, सिस्टम software system को चलाते हैं, यह कंप्यूटर system के हार्डवेयर से काम कराते हैं, जैसे Windows, Mac, Linux, Android आदि यह सिस्टम software ही हैं अब यहां android, ios मोबाइल के system सॉफ्टवेयर हैं system सॉफ्टवेयर ही user को और applications सॉफ्टवेयर को काम करने के लिए एक environment देते हैं system सॉफ्टवेयर के बिना application सॉफ्टवेयर किसी काम के नहीं है

Applications Software: एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर mostly सिस्टम सॉफ्टवेयर जितने large नहीं होते application सॉफ्टवेयर किसी special task को ही करते हैं, जैसे के music player से हम सिर्फ audio को ही सुन सकते हैं और video नहीं देख सकते, ऐसे ही calculator पर हम calculation ही कर सकते हैं लेकिन उस पर audio नहीं सुन सकते इसका मतलब यह है application सॉफ्टवेयर किसी एक के काम को ही कर सकते हैं application सॉफ्टवेयर, system सॉफ्टवेयर पर depend होते हैं, अगर system सॉफ्टवेयर application सॉफ्टवेयर के लिए environment provide करेगा तो ही application सॉफ्टवेयर किसी कंप्यूटर पर अपना काम कर पाएगा MS Office, Windows Media Player, Calculator, MS Paint, WhatsApp आदि application सॉफ्टवेयर ही हैं





Share on Google Plus

About Lakhvir Singh

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment