What is memory in hindi | memory types


Memory क्या होती है:

Memory! याद शक्ति होती है, हमारी memory/याद शक्ति हमारे दिमाग में होती है, जहाँ पर हम अपनी, नई, पुरानी, अच्छी, बुरी यादों को संभाल कर रखते हैं। ऐसे ही हमारे computer के काम की information/data, यह सब computer की यादें ही हैं, जिन को संभाल कर रखने के लिए कंप्यूटर के पास भी कोई याद शक्ति होनी चाहिए, तो कंप्यूटर memory devices, computer की याद शक्ति होती है, जिस से computer को पता चलता है कि उसने क्या  काम किया है, और कौन सा काम उसे आगे करने को दिया गया है। यह सब data computer अपनी memory devices में store करता है।

Computer memory kaha hoti hai:

Computer memory, computer के CPU में जो Hard Disk  drive, RAM यह सब devices होती है, ये कंप्यूटर की बेसिक memory devices होती है। pen drive, memory card, floppy Disk drive, CD, DVD, Blue Ray, SSD  यह सब भी computer की memory devices हैं। इनमें से floppy Disk, CD पुराने time के computer की memory device है, CD का use तो फिर आज भी हो रहा है लेकिन floppy Disk तो बिलकुल भी काम में नहीं ली जाती, क्योंकि इसकी memory capacity बहुत ही ज्यादा कम होती थी।



Types of computer memory:
Computer memory ki types:

Computer memory को two parts में divide किया है, एक है primary memory और second है secondary memory.

Primary Memory: computer का वह memory part जो सिर्फ कंप्यूटर use के लिए होता है, जिस में user, अपने आप से कोई data update नहीं कर पाता। computer की primary memory बहुत ही ज्यादा high speed वाली होती है, इसकी storage capacity, बहुत कम होती है secondary memory के according, लेकिन price में यह expensive होती है secondary memory से। RAM और ROM primary memory है।

RAM: RAM का full form Random Access Memory होता है, RAM computer के motherboard में लगी एक छोटी सी rectangle type की electronic chip होती है, computer में एक साथ, एक से ज्यादा RAM भी install हो सकती है, लेकिन यह depend करता है कि motherboard में RAM कि लिए कितने slot हैं।

RAM का काम, computer में process होने वाले data को, अपने अंदर load कर करके रखना होता है, और फिर जब data process हो जाता है तो RAM इस data को unload कर देता है। अगर कंप्यूटर बंद हो जाए, जा फिर बंद कर दिया जाए तो RAM में load हुआ data lost हो जाता है। इस का मतलब यह है कि RAM Data को temporary load करता है, RAM की capacity 1GB से 8GB तक की होती है जो, हमारे normal computer और laptop में होती है। पुराने computer में RAM 1GB से कम भी होती है (512MB, 256MB) और आज के advance computer में, RAM 8GB से ज्यादा की भी होती है।

Types of RAM:
RAM ki types:

RAM की types भी होती है जैसे DDR1, DDR2, DDR3, DDR4 यह सब RAM की types है, DDR1 और DDR2 पुराने computer में होती थी। DDR3 और DDR4 होती है। RAM की types computer के motherboard पर depend करती है, motherboard में जिस type के RAM slot लगे होते है। उस time की RAM ही computer में लगती है। RAM की speed Mhz में count होती है। जैसे कि 666Mhz, 1333Mhz आदि।

ROM: ROM की full form है Read Only Memory, read only का मतलब यह है के इस memory में जो भी data है उस को हम, read तो कर सकते हैं (अपने काम के लिए उसे कर सकते हैं) लेकिन हम इसे write नहीं कर सकते (इसमें store data में हम कोई भी बदलाव नहीं कर सकते) इस को write करने के लिए special utility software tool की जरूरत पड़ती है। computer की ROM कंप्यूटर के motherboard में होती है। जिसे हम BIOS बोलते हैं, इस में computer Hardware की configuration होती है, कंप्यूटर का time function भी इस में होता है।



Secondary Memory: secondary memory computer का वह memory part है जिसे computer के साथ-साथ हम भी direct use करते हैं। जैसे के Hard Disk Drive इसमे computer use के लिए operating system होता है और हमारे use के लिए songs, movies, games भी। secondary memory काफी cheap और slow होती है primary के मुकाबले में, लेकिन capacity में ज्यादा होती है। secondary memory devices आगे दो तरह की होती है, एक internal memory और दूसरा external/portable memory. Internal memory में तो internal Hard Disk drive होती है और external में Pen Drive, Memory Card, CD, DVD, External Hard Disk  Drive आदि होते हैं।

Hard Disk Drive: यह computer की basic और main secondary memory है। इस में हमारे computer का operating system install होता है और games, software, songs, videos, documents, pictures यह सब भी internal Hard Disk drive में होते है।

External Hard Disk को हम computer data backup और data transfer करने के लिए use करते हैं। आज कल normal हमारे घर के computers में औसत 500GB से 1.5TB की Hard Disk होती है। market में इससे ज्यादा capacity की Hard Disk drive भी available हैं जो business और company use के लिए हैं।

Other's memory devices: computer के और memory devices है, जैसे Pen drive इस को हम computer में से बहुत कम, ज्यादा से ज्यादा 32GB तक का data transfer करने के लिए और LCD TV   पर use करने के लिए या ऐसे ही छोटे मोटे कामों के लिए use करते हैं। Memory Card: यह mobile में और computer में use किया जाना memory device है, यह भी pen drive जैसा ही काम देता है। CD/DVD यह market से original software, games, songs, videos खरीदने और बेचने के लिए use होती है। DVD writer की help से हम इनका data computer में और computer का data इनमें store कर पाते हैं। CD की capacity 700MB और DVD की 4.7GB common होती है।

CD/DVD एक तरह से read only memory (ROM) होती है क्योंकि सभी CD/DVD re-write नहीं होती। आज internet के time में cloud storage भी एक networking memory devices का part है। Computer की windows 10 में one drive App पहले से ही install हुआ आता है। Google Drive, Drop Box, Media fire ऐसे बहुत से online cloud spaces हैं यहाँ पर हम अपना data backup और store कर सकते हैं।


Share on Google Plus

About Lakhvir Singh

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment